गूगल जयपुर साहित्य महोत्सव में भारतीय भाषाओं पर कर रही गोष्ठी

फोटो साभार- pinkvilla31.rssing.com

जयपुर : भारतीय भाषाओं को इंटरनेट पर बेहतर प्रतिनिधित्व प्राप्त कराने के प्रयास में, गूगल गुरुवार से शुरू हो रहे पांच दिवसीय जयपुर साहित्य महोत्सव में “लव योर लैंग्वेज” गोष्ठी की मेजबानी कर रहा है।

गूगल ने गूगल ट्रांसलेट कम्युनिटी  में भागीदारी/योगदान के लिए महोत्सव के प्रतिभागियों और भारतीय भाषाओं के लिए उत्साहित रहने वाले सभी लोगों को आमंत्रित किया है।

गूगल की तरफ से कहा गया कि,”वर्तमान में, गूगल अनुवाद भारत की 22 आधिकारिक भाषाओं में से नौ के लिए उपलब्ध है। लेकिन इंटरनेट पर कम प्रतिनिधित्व वाली भारतीय भाषाएं जैसे बांग्ला, तेलुगू और तमिल की मदद के लिए इस गोष्ठी का इस्तेमाल किया जा सकता है।”

समुदाय की ओर से अधिक साहयता के साथ, गूगल अनुवाद इन भाषाओं के अनुवाद को बढ़ा सकता हैं जिससे लाखों लोगों के लिए अधिक सुलभ इंटरनेट सामग्री उपलब्ध हो सकती है।

सपना चड्ढा,विपणन प्रबंधक, गूगल इंडिया ने कहा “हमारे भारतीय उपयोगकर्ताओं के हाथों में गूगल के उपकरण दे कर,हमें भरोसा है कि हम एक ऐसे वेब का निर्माण कर सकते है जो दुनिया भर के लाखों लोगों के लिए काम कर सकेगा।”

“जयपुर साहित्य महोत्सव भारतीय भाषाओं और संस्कृति के बारे में भावुक लोगों को एकसाथ लाता है,तो हम भारतीय विरासत में योगदान के लिए लोगों को आमंत्रित करने के लिए और गूगल ऑनलाइन अनुवाद के बेहतर अनुभव के लिए इससे बेहतर जगह के बारे में सोच नहीं सकते है।”

जयपुर साहित्य महोत्सव में गूगल मुगल टेंट में लोगों द्वारा गूगल समुदाय अनुवाद के बारे में अधिक जानने में मदद करने के लिए एक डेमो टेंट स्थापित किया गया है।

महोत्सव आने वाले दर्शक, गूगल सांस्कृतिक संस्थान में भारत की संस्कृति और विरासत की मुख्य आकर्षक बातों को भी देख सकते हैं।(आईएएनएस)