अमेरिका में डॉ नरेन्द्र नागारेड्डी उर्फ ‘डॉ डेथ’ गिरफ्तार

वॉशिंगटन : भारतीय मूल के मनोचिकित्सक,डॉ.डेथ,को उसके 36 रोगियों की मृत्य के बाद अमेरिकी पुलिस द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया है। मारे गए कम से कम 12 रोगियों की मौत पर्चे पर जरूरत से ज्यादा दवा लिखे जाने के कारण हुई है।
नरेंद्र नागारेड्डी, क्लेटन काउंटी(जॉर्जिया) में एक मनोचिकित्सक,को अपने रोगियों को ज़रूरत से ज्यादा दवा लेने की सलाह देने के संदेह में सलाखों के पीछे डाल दिया गया है।

लगभग 40 संघीय और स्थानीय एजेंटों डॉ नागारेड्डी के कार्यालयों पर छापा मारा और बाद में बाकी संपत्ति को जब्त करने के लिए उनके घर पर छापा मारा गया।

क्लेटन काउंटी जिला अटार्नी ट्रेसी ग्राहम लॉसन ने कहा,”उन पर अपने पेशे,एक मनोचिकित्सक, के बाहर दर्द की दवा लिखने और मरीज के लिए अवैध उद्देश्य से दवा की सलाह देने के आरोप लगाए है।”

कानूनी दस्तावेजों के अनुसार, “डॉ नागारेड्डी के 36 रोगियों की मौत तब हुई जब उन्हें डॉ नागारेड्डी द्वारा नियंत्रित पदार्थों से निर्धारित किया जा रहा है और इनमें से 12 का जांचकर्ताओं द्वारा शव परीक्षण करने पर पता चला की उनकी मौत नशा की दवा लेने का परिणाम है।”

डॉ नागारेड्डी के रोगीयों में से एक की पहचान एक 29 वर्षीय महिला और दो बच्चो की माँ,ऑड्रे ऑस्टिन, के रूप में की गई है। उसकी मौत डॉ नागारेड्डी के यहाँ दौरा करने के कुछ दिनों के बाद घातक दवाओं के अधिक सेवन के कारण हो गई।

ऑड्रे की मां रुथ कैर ने कहा कि”उसे नशे की लत थी और नागारेड्डी ने उसके लिए यह बहुत आसान बना दिया है।”

डीईए को अधिकारी क्लाइड ई शेली जूनियर ने कहा कि “डॉक्टरों पर जनता विश्वास करती है और उस भरोसे के साथ विश्वासघात बर्दाश्त नहीं किया जा सकता है।”

(स्रोत- theindianpanorama.com)(फोटो साभार- independent.co.uk)