ब्रिटेन हटाएगा ISYF खालिस्तान समर्थक संगठन से प्रतिबंध

प्रतिबंध
youtube

आई.एस.वाई.एफ  (इंटरनेशनल सिख यूथ फेडरेशन)  से 15 साल पुराना प्रतिबंध हटाने का ब्रिटेन प्रयास कर रहा है। प्रतिबंध  हटाने  का  प्रस्ताव  सरकार 22 मई 2015  को  लाई  थी।

क्योंकि  फिलहाल  यह  संगठन आतंकी  गतिविधियों  में  लिप्त  है  इसका  कोई  प्रमाण नहीं  है।

यह  संगठन  1980 में स्थापित हुआ था, और   मार्च  2001 में  ब्रिटेन  ने  इस  पर  प्रतिबंध  लगाया  था, और  जुलाई  2003  में आई.एस.वाई.एफ  को  कनाडा  ने  भी  प्रतिबंधित  कर  दिया था ब्रिटेन के सुरक्षा  मंत्री  जॉन  हायस ने  सदन को बताया की  पूर्ण  जाँच  पड़ताल के  बाद  उपलब्ध जानकारियो  के उपरांत  ही  प्रतिबंध हटाने का निर्णय लिया गया है। इसी  के  साथ  लेबर  पार्टी  के  भारतवंशी  सांसद  कीथ वाज  ने  इस  फैसले  का  स्वागत  कर  इसे  सिख समुदाय  की  भावनाओ  से जुड़ा  बताया  है। ब्रिटेन  में  साढ़े चार  लाख सिख रहते है और 150 गुरूद्वारे है।

द  सिख फेडरेशन ने  2015  में प्रतिबंध हटाने की अपील की  थी। जोकि  गृह  मंत्री थेरेसा मे  ने ख़ारिज कर दी थी। जिसके बाद संगठन  ने  संगठनो  के  लिए  बनाए  गए  आयोग  में  गुहार लगाई मगर मामले की सुनाई से पूर्व ही प्रतिबंध हटाने को लेकर सदन में प्रस्ताव पेश कर दिया गया था। इसी के साथ सिख फेडरेशन के  अध्यक्ष  भाई  अमरीक सिंह  ने  भी  फैसले  पर  प्रसन्नता  जताई  है।

इनपुट  दैनिक  जागरण  से  लिए  गए  है।